हत्या को आत्महत्या में दर्ज करने पर मृतक पक्ष के लोगों ने किया थाने पर हंगामा पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

हत्या को आत्महत्या में दर्ज करने पर मृतक पक्ष के लोगों ने किया थाने पर हंगामा पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप



मुरादनगर। पुलिस हत्या जैसे गंभीर अपराध में भी धाराओं का खेल कर अपराध के मामले में लीपापोती करने का प्रयास कर रही है। जिसको लेकर मृतका पक्ष के लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए पुलिस के खिलाफ नारेबाजी हंगामा किया। पुलिस की इस कार्यप्रणाली से सरकार की छवि भी धूमिल हो रही है। महिला कल्याण सुरक्षा की बात करने वाली सरकार में भी महिला संबंधी मामलों को गंभीरता से नहीं लिया जाता।

गांव मकरेड़ा सोनम पत्नी श्रीपाल उम्र 32 वर्ष की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। मृतका पक्ष ने थाने में सूचना दी थी कि उनकी पुत्री का गला घोट कर हत्या का प्रयास किया गया है। उसकी हालत को गंभीर देखते हुए उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई पुलिस ने मृतक महिला के पति श्रीपाल को धारा 306 का आरोपी बनाते हुए गिरफ्तारी करना बताया है। मृतक महिला के भाई प्रवीण धामा व माता महेंद्री पत्नी जयकिशन निवासी लोनी श्याम पार्क ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी की हत्या उसके पति व उसके परिवार के लोगों ने मिलकर की है। पुलिस ने रिश्वत लेकर धाराओं का खेल कर आरोपियों को बचाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि जो तहरीर उन्होंने पुलिस को दी थी‌। पुलिस ने उनकी तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज नहीं किया है पुलिस ने अपने अनुसार मुकदमा दर्ज किया है। परिजनों ने बताया कि उन्होंने थाना प्रभारी से भी इस बारे में गुहार लगाई थी, लेकिन उन्होंने भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया पुलिस ने हत्या के मुकदमे को आत्महत्या में दर्ज किया है। न्याय के लिए लिए हम उच्च अधिकारियों प्रदेश के मुख्यमंत्री से इसकी शिकायत करेंगे उनका कहना है कि हमें इंसाफ चाहिए। हमारी बेटी की हत्या हुई है हत्या में ही मुकदमा दर्ज होना चाहिए जिन लोगों के नाम हमने तहरीर में दिए हैं। उसके अनुसार ही मुकदमा दर्ज हो इस विषय पर जब थाना प्रभारी निरीक्षक हरिओम सिंह से बात की तो उन्होंने बताया कि पहले 307 में इनके द्वारा दी गई। तहरीर के अनुसार ही मुकदमा दर्ज किया गया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद डॉक्टर की रिपोर्ट के अनुसार मुकदमे में धाराओं को बदला गया है।

Comments