क्रिकेटर सुरेश रैना हो सकते हैं विधानसभा सीट के सपा प्रत्याशी

क्रिकेटर सुरेश रैना हो सकते हैं विधानसभा सीट के सपा प्रत्याशी


मुरादनगर। समाजवादी पार्टी इस विधानसभा सीट पर ऐसे प्रत्याशी को उतार सकती है जो हार जीत समय तय करेगा, लेकिन अन्य प्रत्याशियों के चुनाव में पसीने छूट जाएंगे। समाजवादी पार्टी में मुरादनगर विधानसभा क्षेत्र से बड़े खिलाड़ी को लाने के चर्चाएं है क्रिकेट के मैदान में अच्छा खासा मुकाम बना चुके सुरेश रैना पार्टी के प्रत्याशी हो सकते हैं। रैना का बचपन आयुध निर्माणी क्षेत्र में गुजरा यहीं से उन्होंने अपने खेल को धारदी वह चुनावी व्यस्ताओं व अन्य कारणों से यहां कम ही आप आते हैं, लेकिन जब भी मौका मिलता है यहां आने से अपने आप को नहीं रोक पाते। ‌पुराने मित्र आज भी उनके पहले दिनों जब वह यहां आयुध निर्माणी खेल मैदान में अभ्यास किया करते थे, साथी भी चाहते हैं कि रैना मुरादनगर विधानसभा को भी ऊंचाई तक ले जाएं। समाजवादी पार्टी पूर्व राज्यमंत्री विधान परिषद सदस्य आशु मलिक भी उनके साथी रहे हैं। वह भी चाहेंगे कि उनका एक मित्र राजनीतिक मैदान में भी अपना कौशल दिखा क्रिकेट के मैदान की तरह राजनीति में भी आगे बढ़े। रैना पूरे क्षेत्र से जानकार हैं इसलिए उन्हें यहां समर्थक जुटाने में भी समय नहीं लगेगा। विधानसभा चुनाव कुछ ही महीनों बाद होने हैं प्रत्येक पार्टी प्रत्येक सीट पर जिताऊ उम्मीदवार की तलाश कर रही है। विभिन्न पार्टियों से टिकट मांग रहे नेताओं में भी इसको लेकर विचार होने लगा है क्योंकि सुरेश रैना आज क्रिकेट प्रेमियों के बीच पूरे विश्व में अपना एक स्थान बना चुके हैं। अभी चर्चाएं चल रही हैं कि भविष्य गर्भ में है छोटी सी चिंगारी आग हो तो मशाल भी बन सकती है। फिलहाल समाजवादी पार्टी में क्रिकेटर के आने की मीडिया में भी अटकलें लगाई जा रही हैं लेकिन उनका जवाब सुरेश रैना हो सकता है। इस बारे में आयुध निर्माण क्षेत्र में स्थित लोगों से इस बारे में बात की उनका कहना था कि अभी तक उन लोगों को इस बारे में कोई पता नहीं है लेकिन यदि नगर का बच्चा चुनाव में आएगा अवश्य ही उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी। उनके पिता त्रिलोकचंद सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी हैं आजकल सभी पार्टियां ब्राह्मणों को ढूंढ रही हैं और वह ब्राह्मण हैं। जिसको बताने पर अच्छा खासा हंगामा हो गया था वह खुद श्रीनगर से यहां आकर रहने लगे। हालांकि इस विषय में कोई सपा कार्यकर्ता नेता कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं है। पूर्व राज्यमंत्री तथा विधान परिषद के पूर्व सदस्य आशु मलिक ने बताया कि अभी ऐसा कुछ निश्चित नहीं है। लोग अंदाजे लगा रहे हैं पार्टी यदि कोई निर्णय लेगी तभी कुछ निश्चित रूप से कहा जा सकता है चर्चाएं है चुनाव तक ऐसे ही चलती रहेंगी।


Comments