श्मशान घाट त्रासदी अधिशासी अधिकारी को दोबारा तैनाती

श्मशान घाट त्रासदी अधिशासी अधिकारी को दोबारा तैनाती


मुरादनगर। श्मशान घाट नरसंहार मामले में न्यायालय ने नगर पालिका परिषद की अधिशासी अधिकारी निहारिका चौहान को राहत देते हुए दोबारा नगर पालिका परिषद मुरादनगर की अधिशासी अधिकारी नियुक्त किया है। न्यायालय में उनके पक्ष को देखते हुए जमानत तथा कार्यभार दिए जाने के आदेश किए हैं। 3 जनवरी 2021 को श्मशान घाट में बने बरामदे का लेंटर गिरने से 24 लोगों की मौके पर ही मृत्यु हो गई थी। एक व्यक्ति की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत के बाद मृतकों की संख्या 25 हो गई थी। इस मामले की गंभीरता को लेते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले की जांच एसआईटी को सौंपी थी। एसआईटी की टीम कई बार पीड़ित परिवारों के लोगों के बयान ले चुकी है इस मामले में अधिशासी अधिकारी निहारिका सिंह चौहान सहित पांच लोगों को आरोपी बनाकर जेल भेजा गया था। सूत्रों के अनुसार अधिशासी अधिकारी ने न्यायालय में अपने बचाव पक्ष में कई बयान दिए जिसमें उन्हें राहत मिली और दोबारा यहीं तैनाती भी मिल गई है। इस बारे अधिशासी अधिकारी से संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिल सकी। लेकिन वह नियुक्ति के आदेश लेकर नगर पालिका परिषद कार्यालय पहुंची थीं। उन्होंने कार्यभार लिया या नहीं इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है।


Comments