सबरजिस्ट्रार कार्यालयों में हो रही धांधली के विरोध में मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा

 सबरजिस्ट्रार कार्यालयों में हो रही धांधली के विरोध में मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा


मुरादनगर। गाज़ियाबाद में आज दिनांक 28-09-21 मंगलवार को हनुमान सेना द्वारा अध्यक्ष शिव चौधरी के नेतृत्व में सब रजिस्ट्रार कार्यालयों में हो रही धांधली के विरोध में माननीय मुखयमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्य नाथ को एक सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी गाज़ियाबाद को सौंपा गया।

ज्ञापन में मांग की गयी है कि स्टाम्प विभाग उत्तर प्रदेश गाज़ियाबाद में 7 सबरजिस्ट्रार और एक ए आई जी तैनात है। इन सभी कार्यालयों में लगभग 100 प्राइवेट व्यक्ति काम करते हैं। जिनका काम बैनामा करने आने वाले आमजन से उगाही करना है , यूँ कह लीजिये कि ये वसूली एजेंट हैं जो कमीशन पर काम करते हैं। चाह कर भी इन्हे कार्यालयों से कोई नहीं हटा सकता। सबरजिस्ट्रार कार्यालय में बैनामा होने के बाद अवैध उगाही का खेल शुरू होता है। हालाँकि यह खेल पूरे प्रदेश में है परन्तु गाज़ियाबाद में इसका आतंक कुछ ज्यादा ही है। अवैध धन राशि देने से मन करने पर चपरासी ,बाबू ,सबरजिस्ट्रार ए आई जी , का कथन होता है कि उत्तर प्रदेश शासन में मंत्री और आई जी के यहाँ लाखों रुपयों की मोटी रकम खर्च करके गाज़ियाबाद आए है। इसलिए घुस तो देनी पड़ेगी। नाना प्रकार के षणयंत्र कर स्टाम्प कमी सम्बन्धी आरोप लगाकर बैनामे पर मुकदमा दायर कर दिया जाता है। जिस कारण भोला - भाला आमजन कोर्ट कचहरी के चक्कर में पड जाता है और सरकार को कोसने लगता है। इन विभागीयों लोगों के पास आमजन को को फ़साने का आसान तरीका ये है कि मसलन किसी क्रेता ने एक नंबर की व्हाइट धनराशि प्रदर्शित करके बैनामा करा लिया बाकि उसी क्षेत्र में अन्य लोगों ने सर्किल रेट से मूल्य अदा करके स्टाम्प दिया ,तो अधिक स्टाम्प दिए बैनामे को ढाल बनाकर उसे "दृष्टांत " का नाम देकर अवैध वसूली की जाती है । जो व्यक्ति अवैध राशि दे देता है तो वह जाँच कर्मचारी के चंगुल से बच जाता है,जो घूस नहीं देता है वह मुकदमे बाजी में फंस जाता है। ऐसे सैंकड़ों स्टाम्प मुकदमे चल रहे हैं। हनुमान सेना ने मांग की है कि इस सम्बन्ध में विभागीय जांच ना कराकर किसी अन्य संस्था से क्रास वेरिफिकेशन कराया जाना नितांत आवश्यक है। ताकि सरकार के प्रति आमजन में भरोसा पैदा किया जा सके तथा भ्र्स्टाचार में जीरो परसेंट टॉलरेंस की निति को स्टाम्प विभाग में भी लागू किया जा सके। इस अवसर पर संस्था के पदाधिकारियों में मुख्य रूबी ,संजय जैन ,विमलेश भारद्वाज ,मंटू भाई ,लोकेश शर्मा व् विमल शर्मा आदि थे।

Comments