हमने प्रदेश से गुंडाराज समाप्त कर उत्तम सरकार देने का कार्य किया है - योगी

हमने प्रदेश से गुंडाराज समाप्त कर उत्तम सरकार देने का कार्य किया है - योगी


मोदीनगर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यहां किसान नेशनल इंटर कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे और अपना संबोधन किया लेकिन उखलारसी श्मशान घाट पीड़ित परिवारों की महिलाओं से उन्हें पुलिस प्रशासन ने नहीं मिलने दिया। पुलिस ने पूरे क्षेत्र को छावनी में तब्दील कर दिया। मीडिया कर्मियों को भी कार्यक्रम स्थल में जाने की अनुमति नहीं दी गई। आक्रोशित महिलाओं ने नगर पालिका परिषद कार्यालय जहां वह धरना भूख हड़ताल कर रही हैं, का ताला लगाकर पुलिस प्रशासन के कर्मियों को बंद कर दिया। गौरतलब हो कि 3 जनवरी 2021 को नगर पालिका परिषद द्वारा निर्मित बरांड की छत गिरने के कारण 25 लोगों की मृत्यु उससे अधिक लोग घायल हो गए थे। 1 वर्ष पूर्व हुए इस सरकारी नरसंहार  के समय सरकार द्वारा दिए गए। आश्वासन नौकरी दोषियों को सजा जैसी मांगों को लेकर महिलाएं 29 नवंबर से नगर पालिका परिषद कार्यालय में भूख हड़ताल धरने पर बैठी हुई है। 
महिलाओं से पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने संपर्क कर दो महिलाओं को मुख्यमंत्री से मिलवाने का वादा कर हेलीपैड स्थल पर ले कर ले जाकर उन्हें बंदी बना दिया। तथा नगर पालिका परिषद कार्यालय पर भारी पुलिस बल तैनात कर वहां मौजूद महिलाओं को हिरासत में ले लिया। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम तक महिलाओं को प्रशासन मुख्यमंत्री से मुलाकात करा कर उनका ज्ञापन दिलाने का आश्वासन देते रहे। मुख्यमंत्री के यहां से चले जाने के बाद बंधक महिलाओं को छोड़ा तब उन्होंने नगर पालिका परिषद कार्यालय पर पहुंच अपने साथ हुए व्यवहार के बारे में अन्य महिलाओं को जानकारी दी जिस पर महिलाएं आक्रोशित हो उठीं और उन्होंने पुलिस प्रशासन के कर्मचारियों को नगरपालिका प्रांगण में अंदर कर बाहर से ताला लगा दिया। 



समाचार लिखे जाने तक महिलाओं पुलिस प्रशासन के कर्मचारियों में झड़प भी हो चुकी है। कार्यक्रम में महिलाओं को ले जाने के लिए अंधेरे में रख पुलिस प्रशासन ने उन्हें अवैध रूप से बंदी बना मुख्यमंत्री के पास पहुंचने से रोक दिया। महिलाओं ने जोरदार हंगामा करते हुए कहा है कि न्याय मिलने तक वह यहां से नहीं हटेगी। उन्हें पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने गुमराह कर झूठ बोल हिरासत में ले लिया। जिसके कारण वह मुख्यमंत्री से नहीं मिल सकी। महिलाओं ने शुक्रवार को ही मुख्यमंत्री से मुलाकात कर ज्ञापन देने की बात पुलिस प्रशासन के उच्चाधिकारियों को इसलिए बता दी थी कि उनका ज्ञापन शांति पूर्वक मुख्यमंत्री के पास तक पहुंच सके लेकिन उन्हें वहां तक नहीं पहुंचने दिया गया। 
मुख्यमंत्री ने यहां सपा सरकार पर जमकर निशाने साधे वहीं पूर्व क्षेत्रीय विधायक का बिना नाम लिए कहा कि यहां का एक गुंडा विधायक हमने जेल में भेजा है। भाजपा की सरकार में बदमाश गुंडे जेल में है। उन्होंने पार्टी के प्रत्याशी को बहुमत से जिताने की अपील की। वहीं महिलाओं ने समाचार लिखे जाने तक पालिका कार्यालय पर हंगामा करते हुए कर्मचारियों को वहीं रोका हुआ रखा। महिलाओं ने कहा कि उन्हें एक षड्यंत्र के तहत इधर-उधर कर मुख्यमंत्री से मिलने से रोका गया है, बंधक बनाया गया है जोकि सरकार की मनमानी दिखा रहा है। महिलाओं में पुष्प लता मंजू रजनी निधि ने बताया कि पुलिस प्रशासन ने उनके साथ धोखा किया है। सरकारी बिल्डिंग गिरने के कारण उनके परिजनों की जानें गई हैं। सरकार अपने वादे पूरे करने के बजाए उनका उत्पीड़न करने पर उतर आई है क्योंकि यह नरसंहार भाजपा की सरकार में ही हुआ है। भाजपा के मुख्यमंत्री ने उनसे मुलाकात न कर मृतकों के परिजनों को इंसाफ देने की कोई पहल नहीं की।
महिलाओं ने कहा है कि वह यह भी पता कर आएंगे कि पुलिस प्रशासन के अधिकारियों कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री को उनके द्वारा ज्ञापन देने की सूचना देकर मिलवाने की अनुमति मांगी थी या फिर अपनी मर्जी से उन्हें बंधक बनाकर अपनी हठधर्मिता दिखाई। महिलाओं ने कहा है कि वह अब सरकार के खिलाफ गांव-गांव घर-घर जाकर वोट की अपील करेंगी। आंदोलन कर रही महिलाओं को मुख्यमंत्री के यहां आने पर न्याय की उम्मीद बंधी थी लेकिन उन्हें बंधक बनाकर न्याय कानून का शासन प्रशासन ने गला घोटने का काम किया है। समाचार लिखे जाने तक महिलाओं ने नगर पालिका कार्यालय के सभी गेटों पर ताले जड़ वहीं धरने प्रदर्शन पर बैठ गई। उन्होंने कहा है कि किसी को नगर पालिका में आने जाने नहीं दिया जाएगा उनके साथ समस्त कर्मचारी भी वही रहेंगे।

Comments