विधायक अजीत पाल त्यागी को मंत्री बनाए जाने की चर्चाएं जोरों पर

विधायक अजीत पाल त्यागी को मंत्री बनाए जाने की चर्चाएं जोरों पर 




मुरादनगर। पहले विधानसभा चुनावों की चर्चाएं थीं नतीजे आने पर क्षेत्रीय विधायक भाजपा प्रत्याशी अजीत पाल त्यागी दोबारा विधानसभा पहुंचने में कामयाब रहे। लोगों में अब स्थानीय भारतीय जनता पार्टी विधायक अजीत पाल त्यागी को मंत्री बनाए जाने की चर्चाएं जोरों पर हैं। शर्त राज्यमंत्री या कैबिनेट को लेकर भी लग रही हैं सोशल मीडिया पर कई सूचियां भाजपा की ओर से जारी बता कर शेयर की जा रही हैं। एक सूची में राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने तथा दूसरी सूची में कैबिनेट मंत्री बनाए जाने की बात लिखी हुई है। हालांकि अभी इस बारे में अधिकारिक रूप से कुछ स्पष्ट नहीं हो सका है। लेकिन चर्चा के लिए सोशल मीडिया पर तेजी से चल रही सूचियां काफी हैं जब तक की मुख्यमंत्री की शपथ मंत्रिमंडल का गठन नहीं होता तब तक चर्चाओं का बाजार इसी तरह से गर्म रहेगा। मुरादनगर क्षेत्र को समाजवादी पार्टी बहुजन समाज पार्टी ने कैबिनेट मंत्री पद दिया था वह भी वर्तमान विधायक अजीत पाल त्यागी के पिता राजपाल त्यागी को उसके बाद क्षेत्र में कई समस्याओं का समाधान भी हुआ था इसी को लेकर लोगों में चर्चाएं हैं कि भाजपा भी मुरादनगर को मंत्री पद का तोहफा दे सकती है। अब लोग सरकार लखनऊ की बात न कर मुरादनगर से मंत्री बनाए जाने को लेकर अपने अपने कयास लगा रहे हैं। लोगों का कहना है कि जिस विधायक को मंत्री बना दिया जाता है वह अपने क्षेत्र के लिए कुछ विशेष करने की स्थिति में पहुंच जाता है लोगों में इस बात को लेकर उत्सुकता है कि अजीत पाल त्यागी को मंत्री पद दिया जाएगा या फिर जारी चर्चाएं हवाई साबित होंगी। बारे में दैनिक वीर अर्जुन प्रतिनिधि मुकेश सोनी ने सोशल मीडिया पर जारी सूचियों के बारे में कुछ भाजपा नेताओं से बात की लेकिन अभी कोई भी स्थिति स्पष्ट नहीं कर पा रहा है। उनके पास सिर्फ एक ही जवाब है कि यह शीर्ष नेतृत्व का अधिकार है कि किसको किस लिए कितना बड़ा पद दिया जाए क्योंकि ऐसे मामलों में पार्टियां कई पहलुओं को ध्यान में रखकर निर्णय लेती हैं।

Comments