बोर्ड परीक्षाएं निरस्त हजारों छात्र-छात्राएं हुए परेशान

बोर्ड परीक्षाएं निरस्त हजारों छात्र-छात्राएं हुए परेशान


मुरादनगर। अचानक बोर्ड परीक्षाएं निरस्त किए जाने के कारण हजारों परीक्षार्थी परीक्षा केंद्रों से मायूस होकर घर वापिस लौटे। अंग्रेजी का पर्चा लीक हो जाने के कारण सरकार ने 30 मार्च को होने वाली परीक्षाएं निरस्त कराने का निर्णय लिया जिसकी सूचना छात्र छात्राओं को काफी देर बाद तब मिली जब वह परीक्षा केंद्रों पर पहुंचे और वहां परीक्षाएं कराने से मना कर दिया गया। दूर-दूर से भीषण गर्मी में परीक्षा केंद्रों पर पहुंचे छात्र छात्राओं को जब इस विषय में पता चला वह परीक्षा कब होगी। यह केंद्रों पर मौजूद विभाग से जुड़े लोगों से काफी देर तक यह जानने का प्रयास करते रहे लेकिन उनके प्रश्न का उत्तर कोई नहीं दे पाया। छात्र-छात्राओं ने परीक्षा की पूरी तैयारी की हुई थी लेकिन उन्हें निराश ही होना पड़ा। इस बारे में डॉक्टर रामकिशोर गौतम ने बताया कि परीक्षार्थियों को समय से सूचना न मिलने के कारण उन्हें परेशानी हुई निरस्त पेपर कब होंगे यह शासन स्तर से ही निर्णय लिया जाएगा।


यूपी बोर्ड कर रहा है युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ - महताब पठान 


इस विषय में कांग्रेस नेता महताब पठान ने कहा कि यूपी बोर्ड युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ कर रहा है। 
उत्तर प्रदेश मे यूपी बोर्ड ने भ्रष्टाचार करने मे सभी हदें पार कर दी। बुधवार को होने वाली 12वीं  क्लास की परिक्षा का अंग्रेजी पेपर लीक होने से परिक्षा रद्द करनी पड़ी। लाखों युवाओं की मेहनत बेकार हो गई। देश का भविष्य कहे जाने वाले युवाओं में मायूसी का माहौल है। पहले लाॅकडाउन की  भेंट चढ़ चुकी पढ़ाई से उबर भी नही पाए थे। ऐसे में पेपर रद्द हो जाने पर युवाओं के भविष्य से खुला खिलवाड़ हो रहा है। सरकार से गुजारिश है दोषी लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई कर जल्द से जल्द परिक्षा कराई जाए।





Comments