जीडीए कार्यवाही के नाम पर कर रहा है उगाही - ज्ञानेंद्र सिंघल

जीडीए कार्यवाही के नाम पर कर रहा है उगाही -  ज्ञानेंद्र सिंघल


मुरादनगर। गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के अधिकारी कर्मचारी मुरादनगर क्षेत्र में बुलडोजर दिखाकर अवैध उगाही में लगे हैं। जीडीए ने क्षेत्र को कोई सुविधा नहीं दी। अवैध अतिक्रमण की ओर जीडीए का बुलडोजर चलता ही नहीं। छोटी जमा पूंजी वालों को "उनका सपना एक घर हो अपना" का पूरा कराने के लिए कम दामों पर प्लाट उपलब्ध कराने वालों का उत्पीड़न तथा गरीबों के सपनों पर बुलडोजर चलाया जा रहा है। यह कहना है व्यापारी नेता भाजपा के पूर्व नगर अध्यक्ष मनोनीत सभासद ज्ञानेंद्र सिंघल का। 
सिंघल ने बताया कि जब डीलर नई कॉलोनी काटने की तैयारी करते हैं उस समय उन्हें बुलडोजर का भय दिखाकर वसूली की जाती है। अपने जीवन की जमा पूंजी जोड़कर छोटा सा आशियाना बनाने की तैयारियां करने वाले को भी डरा कर प्राधिकरण के अधिकारी कर्मचारी वसूली करते हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि क्षेत्र में बड़ी संख्या में कालोनियां बस गई हैं, यहां तक की कई स्थानों पर सरकारी भूमि पर अवैध अतिक्रमण कर निर्माण कर लिए गए हैं, उस समय जीडीए ने उन्हें क्यों नहीं रुकवाया। बुलडोजर आता है लोगों को डराता है और फिर वसूली कर उस और न अधिकारी देखते हैं और न ही बुलडोजर उस और चलता है। 
जीडीए के अधिकारी कर्मचारी यहां के लोगों को लूट रहे हैं। उच्चाधिकारियों को भी गलत जानकारी देकर भ्रमित कर रहे हैं। जिन कालोनियों पर प्राधिकरण का बुलडोजर चलता है वह दोबारा कैसे बस जाती हैं ? इस सवाल का जवाब भी मिलना चाहिए। यह विकास प्राधिकरण नहीं भ्रष्टाचार प्राधिकरण बन गया है। उन्होंने कहा कि कॉलोनी बनाने वाले डीलर जमीन मालिक से पैसा देकर जमीन खरीदते हैं ऐसे में वह अवैध कैसे हो सकती है। जीडीए को ऐसी कार्यवाही से पहले अपनी योजनाएं क्षेत्र में शुरू कर लोगों को सुविधाएं मकान प्लाट उपलब्ध कराने का प्रयास करना चाहिए लोगों का उत्पीड़न शोषण नहीं।

Comments

Popular posts from this blog

अमेज़ॉन में हुआ काइट के 13 छात्रों का प्लेसमेंट, प्रत्येक छात्र को मिला 44.14 लाख का पैकेज

चेयरमैन सईउल्लाह खान ने कहा था न खाऊंगा न खाने दूंगा

कानूनी जागरूकता शिविर में छात्र छात्राओं ने दी कानून की जानकारी ग्रामीणों को जानकारी