दक्षिण भारत का टूर प्लान कर रहे हैं, तो ज़रूर करें इन 5 भव्य मंदिरों के दर्शन

 



आंध्रप्रदेश के चित्तूर जिले में स्थित यह मंदिर किसी परिचय का मोहताज नहीं है। यह देश के सबसे मशहूर तीर्थ स्थलों में से एक है। यह स्वामी वेंकेटेश्वर मंदिर तिरुपति पहाड़ की सातवीं चोटी पर स्थित है। मुख्य मंदिर में भगवान वैंकटेश्वर की प्रतिमा है।












भारत को मंदिरों का देश कहा जाता है और सिर्फ उत्तर भारत ही नहीं, बल्कि दक्षिण भारत में भी एक से बढ़कर एक सुंदर और भव्य मंदिर है। इन आलीशान मंदिरों को देखकर यकीनन आप भी हैरान रह जाएंगे। प्राचीन संस्कृति को सहेजे इन भव्य मंदिरों में से कई को यूनेस्को द्वारा वर्ल्ड हेरिटेज साइट का दर्जा दिया गया है। साउथ इंडिया का टूर प्लान कर रहे हैं तो इन विशाल मंदिरों के दर्शन ज़रूर करें।

तिरुपति बालाजी मंदिर

आंध्रप्रदेश के चित्तूर जिले में स्थित यह मंदिर किसी परिचय का मोहताज नहीं है। यह देश के सबसे मशहूर तीर्थ स्थलों में से क है। यह स्वामी वेंकेटेश्वर मंदिर तिरुपति पहाड़ की सातवीं चोटी पर स्थित है। मुख्य मंदिर में भगवान वैंकटेश्वर की प्रतिमा है। मंदिर परिसर में कई खूबसूरत द्वार, मंडपम और छोटे मंदिर बने हैं। इस मंदिर की गिनती देश के सबसे अमीर मंदिरों में होती है और यहां के भगवान वेंकटेश्वर पर लोगों की अपार श्रद्धा है। तभी तो हर दिन करीब 50000 लोग मंदिर में दर्शन के लिए आते हैं।


श्री रंगनाथ स्वामी मंदिर

यह दक्षिण भारत के लोकप्रिय मंदिरों में से एक है और यह हिन्दू भगवान रंगनाथम को समर्पित है। यह मन्दिर तमिलनाडू के तिरुचिरापल्ली शहर के श्रीरंगम नामक द्वीप पर स्थित है। 156 एकड़ में फैला यह मंदिर बहुत भव्य है। यह कावेरी नदी के तट पर स्थित है और भू-लोक का वैकुंठ भी कहा जाता है। यह भगवान विष्णु को समर्पित 108 दिव्य दशमों में से एक है। मंदिर के गर्भगृह के ऊपर की संरचना में सोने का इस्तेमाल हुआ है। यहां आकर आपके मन को असीम शांति मिलेगी।

 

पद्मानभस्वामी मंदिर 

भगवान विष्णु का यह मशहूर मंदिर केरल के तिरुअनन्तपुरम में स्थित है और हिन्दू के प्रमुख वैष्णव मंदिरों में शामिल है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि सबसे पहले इस स्थान से विष्णु भगवान की प्रतिमा प्राप्त हुई थी, जिसके बाद उसी जगह पर मंदिर बनवाया गया। मंदिर के गर्भगृह में भगवान विष्णु शेषनाग पर शयन मुद्रा में विराजमान हैं। इस मंदिर के एक ओर खूबसूरत समुद्री किनारे तो दूसरी ओर सुंदर पहाड़ियां है, जो उसकी खूबसूरती और लोकप्रियता और बढ़ा देते हैं।

 

नटराजा मंदिर

भगवान शिव को समर्पित यह मंदिर तमिलनाडु के चिदंबरम शहर में स्थित है। पूरे देश से लोग यहां भगवान शिव के नटराज रूप के दर्शनों के लिए आते हैं। इस मंदिर में प्रवेश के लिए मूर्तियों तथा अनेक प्रकार की चित्रकारी वाले भव्य गोपुरम बने हैं, जो नौ मंजिले हैं। मंदिर की नक्काशी देखकर आप हैरान रह जाएंगे। यह मंदिर देश के पांच पवित्र शिव मंदिरों में से एक है। इसकी विशालता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यह 40 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है। 

मीनाक्षी अम्मन मंदिर

माता पार्वती को समर्पित यह मंदिर तमिलनाडू के मदुरै शहर में स्थित है। यह प्राचीन और भव्य मंदिर भारत के सबसे अमीर मंदिरों में से एक है। कहा जाता है कि मंदिर का मुख्य गर्भगृह 3500 साल से भी अधिक पुराना है। इस विशाल मंदिर का स्थापत्य एवं वास्तु बहुत दिलचस्प है। साभार












Comments