आगामी 15 दिसंबर को जनपद में आयोजित होने वाली पीसीएस परीक्षा को नकल विहीन संपन्न कराने में जुटा जिला प्रशासन

आगामी 15 दिसंबर को जनपद में आयोजित होने वाली पीसीएस परीक्षा को नकल विहीन संपन्न कराने में जुटा जिला प्रशासन


जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडेय के निर्देश पर आईटीएस कॉलेज के सभागार में द्वितीय चरण का प्रशिक्षण अपर जिलाधिकारी प्रशासन की अध्यक्षता में संपन्न। समस्त संबंधित मजिस्ट्रेट एवं अधिकारियों को नकल विहीन परीक्षा कराने के दिए गए कड़े निर्देश। किसी भी परीक्षार्थी को किसी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लाने की नहीं होगी परमिशन। सभी परीक्षार्थी 10 मिनट से अधिक लेट होने पर परीक्षा में नहीं ले सकेंगे भाग।



गाजियाबाद। आगामी 15 दिसंबर को जनपद में 69 सेंटरों पर पीसीएस परीक्षा 2019 का आयोजन उत्तर प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप नकल विहीन संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन पूर्ण रूप से कृत संकल्पित है। इस परीक्षा को आयोग एवं सरकार की मंशा के अनुरूप संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन के अधिकारी गण निरंतर रूप से तैयारी कर रहे हैं। इस क्रम में शुक्रवार को जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडेय के निर्देश पर आईटीएस कॉलेज के सभागार में अपर जिलाधिकारी प्रशासन जेके शर्मा की अध्यक्षता में सभी मजिस्ट्रेट एवं अधिकारियों का द्वितीय चरण का प्रशिक्षण संपन्न हुआ।



इस अवसर पर अपर जिला मजिस्ट्रेट प्रशासन जेके शर्मा ने पीसीएस परीक्षा 2019 को संपन्न कराने में आयोग एवं सरकार की मंशा के संबंध में सभी सुपर जोनल मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट, स्टैटिक मजिस्ट्रेट एवं केंद्र व्यवस्थापकों ने स्पष्ट करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की यह महत्वपूर्ण परीक्षा है। अतः सरकार की मंशा के अनुरूप जनपद में आगामी 15 दिसंबर को 69 केंद्रों पर इस परीक्षा का आयोजन नकल विहीन सुनिश्चित कराया जाएगा। जिन अधिकारियों की ड्यूटी इस महत्वपूर्ण कार्य के लिए लगाई गई है। सभी सुपर जोनल मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट, स्टैटिक मजिस्ट्रेट एवं केंद्र व्यवस्थापकों के द्वारा परीक्षा के दौरान आयोग की मंशा के अनुरूप कार्रवाई करते हुए इस महत्वपूर्ण परीक्षा को संपन्न कराया जाएगा।


उन्होंने स्पष्ट किया है कि इस कार्य में यदि किसी भी स्तर पर शिथिलता बरती जाएगी तो उसके संबंध में संबंधित के विरुद्ध कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। अपर जिला मजिस्ट्रेट जेके शर्मा ने कहा कि आज दूसरी बार सभी मजिस्ट्रेट एवं केंद्र व्यवस्थापक तथा संबंधित अधिकारियों को प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।य जिसका मूल उद्देश्य यही है कि इस परीक्षा को आयोग एवं उत्तर प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप दृढ़ता के साथ नकल विहीन संपन्न कराया जाए। उन्होंने कहा है कि आयोजित होने वाली परीक्षा में भाग लेने वाले परीक्षार्थी किसी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, मोबाइल फोन आदि साथ में नही ला सकेंगे। इसी प्रकार कोई भी परीक्षार्थी यदि 10 मिनट से अधिक लेट होते हैं तो वह इस परीक्षा में भाग नहीं ले पाएंगे। उन्होंने इस अवसर पर दोनों बिंदुओं पर केंद्र व्यवस्थापकों को दृढ़ता से पालन कराने के निर्देश दिए हैं।


परीक्षा को संपन्न कराने में महत्वपूर्ण जो तैयारियां हैं, सभी संबंधित अधिकारियों एवं केंद्र व्यवस्थापकों के द्वारा समय रहते पूर्ण कर ली जाए। ताकि सरकार की मंशा के अनुरूप इस महत्वपूर्ण परीक्षा का आयोजन जनपद में सकुशल संपन्न कराया जा सके। उन्होंने इस अवसर पर यह भी स्पष्ट किया कि लगाए गए सभी जोनल, सुपर जोनल, सेक्टर एवं स्टैटिक मजिस्ट्रेट एवं केंद्र व्यवस्थापक अपनी-अपनी ड्यूटी पर निर्धारित समय पर उपस्थित रहकर इस महत्वपूर्ण कार्य को संपन्न कराएंगे।


उन्होंने कहा है कि पीसीएस परीक्षा 2019 को संपन्न कराने में आयोग के द्वारा जो गाइडलाइन निर्गत की गई हैं। सभी केंद्र व्यवस्थापकों के द्वारा एवं अन्य अधिकारियों के द्वारा उनका गहनता के साथ अध्ययन कर लिया जाए और परीक्षा के दौरान सभी कार्यवाही आयोग के मंशा के अनुरूप संपन्न की जाए। आयोजित प्रशिक्षण में परियोजना निदेशक डीआरडीए पीएन दीक्षित अन्य संबंधित अधिकारीगण, मजिस्ट्रट एवं केंद्र व्यवस्थापको के द्वारा भाग लिया गया।


Comments