वर्ष 2020-21 में 217 करोड़ से कराए जाएंगे विकास कार्य

कलेक्ट्रेट के सभागार में जिला विकास योजना 2020-21 का अनुमोदन स्वीकृत


जनपद के प्रभारी  मंत्री सुरेश कुमार खन्ना की अध्यक्षता में बैठक संपन्न


प्रभारी मंत्री के अधिकारियों को निर्देश स्थानीय जनप्रतिनिधियों से आपसी सामंजस्य स्थापित करते हुए विकास कार्यों को कराएं संपादित। जनपद में कानून एवं शांति व्यवस्था बनाने के संबंध में की गई गहन समीक्षा अधिकारियों को शासन की मंशा के अनुरूप कार्य करने के दिए निर्देश।



गाजियाबाद। जनपद में कानून एवं शांति व्यवस्था मानकों के अनुसार कायम रहे और सभी विकास कार्यक्रमों में समयबद्धता के साथ गतिशीलता लाई जा सके इस उद्देश्य से जनपद के प्रभारी मंत्री एवं उत्तर प्रदेश सरकार के माननीय वित्त संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग मंत्री सुरेश कुमार खन्ना के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में महत्वपूर्ण बैठक में अध्यक्षता करते हुए संबंधित अधिकारियों को शासन एवं सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य करने के निर्देश दिए हैं।



इस अवसर पर आगामी वित्तीय वर्ष 2020-21 जिला विकास योजना का अनुमोदन भी स्वीकृत किया गया है, जिसमें 217 करोड़ के विकास कार्य विभिन्न विभागीय अधिकारियों के माध्यम से जनपद में संपन्न कराए जाएंगे। प्रथम चरण में प्रभारी मंत्री सुरेश कुमार खन्ना के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में जनपद की कानून एवं शांति व्यवस्था को लेकर पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों के साथ गहन समीक्षा की गई। इस अवसर पर सर्वप्रथम जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय के द्वारा बैठक में प्रभारी मंत्री का स्वागत किया गया। तत्पश्चात वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के द्वारा जनपद में कानून एवं शांति व्यवस्था तथा अपराधों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से की जा रही कार्यवाही के संबंध में प्रभारी मंत्री जी को विस्तार परक रूप से जानकारी उपलब्ध कराई गई। उन्होंने बताया कि जनपद में अपराधों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से लायंन  आर्डर सेल का गठन किया गया है। प्रभारी मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने बैठक में समीक्षा करते हुए पाया कि जनपद में पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों के द्वारा आपसी तालमेल बनाकर जनपद की कानून एवं शांति व्यवस्था को सरकार की मंशा के अनुरूप बनाए जाने की कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने इस कार्य के लिए पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों को आपसी सामंजस्य की सराहना की। उन्होंने जनपद के अपराधिक आंकड़ों की समीक्षा करते हुए पाया कि सभी प्रकार के अपराधों में विगत वर्षों की भांति वर्तमान में कमी आई है। परंतु पुलिस अधिकारियों को और अधिक कड़ी मेहनत करते हुए सभी प्रकार के अपराधों को कम करने में अपनी भूमिका का निर्वहन करना चाहिए ताकि सरकार की मंशा के अनुरूप जनपद की कानून एवं शांति व्यवस्था बनी रहे और अपराधों पर अंकुश लगाया जा सके। उन्होंने इस अवसर पर पुलिस विभाग के अधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि सरकार की मंशा के अनुरूप जनपद के प्रत्येक क्षेत्र में शांति एवं आपसी सौहार्द कायम करने के उद्देश्य से जनपद के प्रतिनिधियों के साथ निरंतर रूप से बैठक की जाए और इस दिशा में पुलिस के अधिकारियों द्वारा कार्रवाई सुनिश्चित की जाए ताकि पूरे जनपद में आपसी सद्भाव और अधिक दृढ़ता के साथ कायम रहे। दूसरे चरण में प्रभारी मंत्री के द्वारा आगामी वर्ष 2020- 21 की जिला विकास योजना का अनुमोदन भी स्वीकृत किया गया, जिसमें 217 करोड़ के माध्यम से विभिन्न विभागीय अधिकारियों द्वारा विकास कार्यक्रमों का संपादन कराया जाएगा।


इस संबंध में प्रभारी मंत्री सुरेश कुमार खन्ना  ने विकास से जुड़े हुए समस्त अधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि विकास की दृष्टि से जिला विकास योजना सरकार का बहुत ही महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है और आगामी वर्ष में जो कार्य स्वीकृत किए गए हैं उनका समस्त जनपद वासियों को समयबद्धता के साथ एवं पारदर्शिता के साथ विकास कार्यक्रमों का लाभ मिल सके इसके लिए अधिकारियों द्वारा अपने स्थानीय जनप्रतिनिधियों से आपसी सामंजस्य स्थापित करते हुए पूरे जनपद में विकास कार्यक्रमों को संपादित करें ताकि जनपद गाजियाबाद का विकास और अधिक तेजी से आगे बढ़ सके। आज किए गए अनुमोदन में सबसे अधिक कार्य सड़क एवं पुल में ₹57 करोड़ 33 लाख के कार्य आगामी वर्ष के लिए स्वीकृत किए गए हैं। इसी प्रकार एलोपैथिक चिकित्सा में 13 करोड़ 70 लाख, परिवार कल्याण में 34 करोड़ 42 लाख, समाज कल्याण विभिन्न छात्रवृत्ति एवं शादी अनुदान में 38 करोड़ 92 लाख, समाज कल्याण अनुसूचित जाति कल्याण के लिए 6 करोड़ 5 लाख   माध्यमिक शिक्षा में 21 करोड़ 37 लाख आदि विभागों को बजट की स्वीकृति प्रदान की गई है। इस अवसर पर संचालित जिला विकास योजना की भी प्रभारी मंत्री के द्वारा गहन समीक्षा की गई। उन्होंने पाया कि चालू वित्तीय वर्ष में 195 करोड़ 47 लाख रुपए के जिला विकास योजना स्वीकृत थी जिसके सापेक्ष वर्तमान तक एक सौ एक करोड़ 35  लाख रुपए का व्यय विभिन्न विभागीय अधिकारियों के द्वारा सुनिश्चित किया गया है।उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वित्तीय वर्ष समाप्ति में मात्र दो माह अवशेष बचे हैं। अतः संबंधित अधिकारियों के द्वारा अपने-अपने विकास कार्यक्रमों को शीघ्रता के साथ संपन्न कराया जाए ताकि सभी विकास कार्यक्रमों का लाभ आम नागरिकों को सरकार की मंशा के अनुरूप प्राप्त हो सके।


इस अवसर पर उन्होंने यह भी कहा कि सरकार के स्वच्छता कार्यक्रम में जनपद विगत वर्ष प्रथम स्थान प्राप्त कर चुका है। अतः इस कार्यक्रम को जनपद में उसी गतिशीलता एवं गहनता के साथ संचालित किया जाए ताकि आगे भी स्वच्छता कार्यक्रम में जनपद कीर्तिमान स्थापित कर सकें। प्रभारी मंत्री ने इस अवसर पर जनपद में वृक्षारोपण कार्यक्रम को भी बहुत ही प्रमुखता के साथ एवं जनप्रतिनिधियों के साथ आपसी सामंजस्य स्थापित करते हुए वृहद स्तर पर कराने की अपेक्षा की है ताकि जनपद के पर्यावरण को और अधिक शुद्ध बनाया जा सके। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने इस अवसर पर प्रभारी मंत्री को आश्वस्त किया जनपद के विकास कार्यक्रमों एवं शांति व्यवस्था के संबंध में उनके द्वारा जो मार्ग निर्देशन दिया गया है संबंधित अधिकारियों के माध्यम से उनका अनुपालन शतप्रतिशत रूप से सुनिश्चित कराया जाएगा।


आयोजित बैठक में जनपद के मंत्री अतुल गर्ग, राज्यसभा सांसद, महापौर नगर निगम, सभी विधायक गण तथा अन्य जनप्रतिनिधि गण, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी, मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व यशवर्धन श्रीवास्तव, परियोजना निदेशक पीएन दीक्षित, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी वीर सिंह तथा अन्य जिला स्तरीय अधिकारी गण एवं वरिष्ठ अधिकारियों के द्वारा भाग लिया गया।


Comments

Popular posts from this blog

अमेज़ॉन में हुआ काइट के 13 छात्रों का प्लेसमेंट, प्रत्येक छात्र को मिला 44.14 लाख का पैकेज

चेयरमैन सईउल्लाह खान ने कहा था न खाऊंगा न खाने दूंगा

कानूनी जागरूकता शिविर में छात्र छात्राओं ने दी कानून की जानकारी ग्रामीणों को जानकारी