भाजपा सत्ता के लिए कुछ भी कर सकती हैं - असलम खान

भाजपा सत्ता के लिए कुछ भी कर सकती हैं - असलम खान



मुरादनगर। भारतीय जनता पार्टी सत्ता के लिए कुछ भी कर सकती है क्योंकि आने वाले दिनों में उसे अपनी जमीन की खिसकती नजर आ रही है। यह बातें राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश महासचिव असलम खान ने एक वार्ता के दौरान कहीं। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में जो भाजपा ने वहां की सरकार गिरवा कर अपनी ही कमी दिखलाई दी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सिंधिया जैसे नेता को उनके कद के हिसाब से जिम्मेदारी नहीं दी गई। यही कारण है कि वहां का कांग्रेस कार्यकर्ता अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहा था और भारतीय जनता पार्टी ऐसे मौके की तलाश में थी।


उन्होंने कहा कि गन्ना किसान का भुगतान ओलावृष्टि से फसल का नाश हो गया है। लेकिन बीजेपी जनहित के मुद्दों से भटक कर अब हर हालत में हर स्तर की सत्ता पर काबिज होना चाहती है। उन्होंने कहा कि जो राजनीतिक दल नेता गरीब मजदूर किसान की आवाज नहीं सुनेगा वह ज्यादा दिन नहीं चल सकती। उन्होंने कहा भाजपा हाईकमान कई दिनों से ज्योदितराव सिंधिया को लेकर जितनी माथापच्ची कर रही थी यदि उसकी आधी भी जनहित में के कार्य में लगाती तो किसानों की बड़ी समस्या हल हो सकती थी। असलम ने कहा कि राष्ट्रीय लोक दल ने कभी भी सत्ता के लिए राजनीति नहीं की बल्कि राजनीति के द्वारा लोगों की सेवा की है। उन्होंने कहा कि रालोद मुखिया चौधरी अजीत सिंह कई सरकारों में विभिन्न महत्वपूर्ण मंत्रालयों में मंत्री रहे लेकिन उन पर आज तक भी भ्रष्टाचार जैसा आरोप विरोधी भी लगाने की हिम्मत नहीं कर पाते। असलम ने बताया कि आगामी चुनाव को लेकर पार्टी हाईकमान जो भी दिशा निर्देश जारी करेगा कार्यकर्ता जी जान से उसका पालन करेंगे। आने वाले ग्राम पंचायत निकाय जैसे चुनाव में पार्टी के भाग लेने पर उन्होंने कहा कि यह पार्टी हाईकमान के ऊपर समस्त पार्टी कार्यकर्ताओं ने छोड़ा हुआ है। जैसा आदेश होगा कार्यकर्ता उसका पालन करेंगे। उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह हमेशा गांव मजदूर गरीब किसान की बात करते थे और कई ऐसे महत्वपूर्ण निर्णय लिए जिनसे देश का किसान आज भी उनका ऋणी है।  उन्होंने कहा की चौधरी अजीत सिंह और जयंत चौधरी और प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह के विचारों को बढ़ाने लोगों के दुख दर्द कम करने के लिए कार्य कर रहे हैं और पार्टी के समस्त कार्यकर्ता उनके हर निर्णय के साथ हैं।


Comments