अगर गन्ना किसानों का भुगतान नहीं हुआ तो होगा आंदोलन - असलम खान

अगर गन्ना किसानों का भुगतान नहीं हुआ तो होगा आंदोलन - असलम खान



मुरादनगर। गन्ना किसानों के बकाया भुगतान की मांग को लेकर राष्ट्रीय लोक दल आने वाले दिनों में किसानों को लेकर आंदोलन की नीति बना रहा है। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश महासचिव असलम खान ने बताया कि क्षेत्र के 178 गांव के गन्ना किसानों का 2018 -19 वर्ष का ब्याज का ही 32 करोड़ रुपए किसानों का है। इसके अलावा अन्य भुगतान भी नहीं हुए हैं जिसके कारण गन्ना किसानों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है।


सरकार को किसानों की हालत के बारे में पता है। बताया भी गया है लेकिन फिर भी इस और सरकार ध्यान नहीं दे रही। गन्ना किसानों का भुगतान नहीं हो रहा, ऐसे में आंदोलन कर अपनी बात कहना मजबूरी बन गई है।


उन्होंने बताया कि वैश्विक महामारी के कारण लगे लॉक डाउन का पालन करते हुए पार्टी कार्यकर्ता गांव गांव जाकर गन्ना किसानों व पार्टी कार्यकर्ताओं कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रणनीति बनाई जा रही है। उन्होंने बताया कि बैठक में लोक डाउन का पालन करते हुए कम ही लोगों को बुलाया जाएगा। बाकी सब साथी फोन या अन्य माध्यमों से इस विषय में चर्चा कर रणनीति बनाएंगे।


असलम ने कहा बीमारी आई है सरकार के प्रयासों लोगों की सावधानी से चली भी जाएगी। सरकार हर वर्ग को मदद पहुंचा रही है लेकिन गन्ना किसानों की सुध नहीं ली जा रही। उनके घर में खाने के लिए है या नहीं गन्ना किसान अपने अधिकांश बड़े कार्य बच्चों के विवाह अन्य कार्यक्रम बड़ी खरीदारी गन्ना फसल के दम पर ही करते हैं लेकिन उसी फसल का मूल्य उन्हें नहीं मिल पा रहा। उनका खुद का पैसा होते हुए वह आज खुद परेशान हैं राष्ट्रीय लोक दल ने फैसला किया है कि वह गन्ना किसानों की समस्या को लेकर शीघ्र ही जन आंदोलन करेगी। राष्ट्रीय लोक दल मुरादनगर क्षेत्र के किसानों की जायज मांगों को लेकर कई बार सरकार को बताई जा चुकी हैं लेकिन कुछ निराकरण नहीं हुआ। ऐसे में किसान अपनी बकाया रकम के लिए सड़क पर आने को तैयार हैं। राष्ट्रीय लोक दल किसान मजदूरों की पार्टी है। इस समय किसान गन्ने के भुगतान न होने मजदूर लॉक डाउन में काम बंद होने से बेरोजगार हो गए हैं। इस आपदा के बाद भी इन दोनों वर्गों को समझने के लिए काफी संघर्ष करने पड़ेंगे। उसके लिए पार्टी अभी से तैयारी कर रही है।


 


Comments