मानव उत्थान सेवा समिति ने दिया "पीएम केयर फंड" में 21 लाख रूपए का योगदान 

मानव उत्थान सेवा समिति ने दिया "पीएम केयर फंड" में 21 लाख रूपए का योगदान 


 


"उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड" के सेन्ट्रल एकॉऊन्ट में भी दिया 5 लाख एक रुपये का पहला अनुदान



सतपाल महाराज जी


देहरादून।  वैश्विक महामारी कोरोना की चुनौतियों से निपटने में लगी केंद्र सरकार की मदद को अखिल भारतीय आध्यात्मिक व सामाजिक संस्था मानव उत्थान सेवा समिति ने मदद का हाथ बढ़ाया है। समिति ने इसके लिए जहाँ एक ओर ‘पीएम केयर फंड’ में 21 लाख रुपये की राशि का योगदान किया है वहीं संकट की इस घड़ी में देश के विभिन्न हिस्सों में निराश्रित एवं गरीबों को राशन कीट भी उपलब्ध करवा रही है।


ज्ञात हो कि अखिल भारतीय स्तर पर कार्य करने वाली मानव उत्थान सेवा समिति एक सामाजिक व धर्मार्थ संस्था है। उत्तराखंड सरकार में कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज इस संस्था के प्रेरणास्रोत और मार्गदर्शक हैं। संस्था संपूर्ण भारत सहित विभिन्न देशों में आध्यात्मिक ज्ञान प्रचार से संबंधित कार्यक्रम आयोजित करती है। इसके अतिरिक्त संस्था का चिकित्सा व शिक्षा जैसे सामाजिक सेवाकार्यों में भी महत्वपूर्ण योगदान है। समिति प्रत्येक वर्ष रक्तदान कैंप, वृक्षारोपण कार्यक्रम आदि का आयोजन भी करती है।


इस समय जबकि कोरोना महामारी से पूरा देश प्रभावित है और प्रत्येक स्तर पर इससे निपटने के निरन्तर प्रयास हो रहे हैं तो मानव उत्थान सेवा समिति भी बढ़ चढ़कर सेवा कार्य में लगी है।


उत्तराखंड सरकार में कैबिनेट मंत्री एवं संस्था के प्रेरणा स्रोत सतपाल महाराज का कहना है कि ‘कोविड 19 ने पूरे देश को अपनी चपेट में ले लिया है। देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में समस्त भारतवासी कोरोना महामारी से जंग लड़ रहे हैं। इन परिस्थितियों में हम सब माननीय प्रधानमंत्री जी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।’ 


देश में कोरोना मरीजों की संख्या निरंतर बढ़ रही है। इसका सामना करने में जुटी केंद्र सरकार का सहयोग प्रत्येक देश के प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है। इसलिए मानव उत्थान सेवा समिति ने भी स्थितियों की गंभीरता को समझते हुए अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए "पीएम केयर फंड" में 21 लाख रुपये और नव गठित "उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड" के सेन्ट्रल एकॉऊन्ट में 5 लाख एक रुपये का पहला अनुदान दिया है।


अपना का योगदान किया। उन्होने बताया कि संस्था के द्वारा पूरे देश में स्थापित आश्रमों के माध्यम से निराश्रित एवं गरीबों को लगातार राशन कीट वितरित की जा रही है। इसके अलावा हरिद्वार स्थित प्रेमनगर आश्रम में उत्तराखंड के प्रवासियों के रहने, खाने की भी व्यवस्था की जा रही है।


Comments