आयुध निर्माणी बोर्ड द्वारा 2 मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्र राष्ट्रीय ग्रिड को समर्पित किया गया

आयुध निर्माणी बोर्ड द्वारा 2 मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्र राष्ट्रीय ग्रिड को समर्पित किया गया



मुरादनगर। नगर स्थित आयुध निर्माणी मुरादनगर में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से डीजीओएफ एवं चेयरमैन आयुध निर्माणी बोर्ड द्वारा 2 मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्र राष्ट्रीय ग्रिड को समर्पित किया गया । कोविड 19 को देखते हुए यह कार्यक्रम वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित किया गया तथा आयुध निर्माणी बोर्ड के चेयरमैन हरिमोहन के अध्यक्षता व आयुध निर्माणी मुरादनगर के महाप्रबंधक पी महांति की उपस्थिति में यह कार्यक्रम सायं 4 बजे आयोजित किया गया।


महाप्रबंधक पी महांति ने बताया कि इस परियोजना ने हमारे प्रधानमंत्री के 'आत्मनिर्भर भारत' के दृष्टिकोण के अनुरूप 'आत्मनिर्भर आयुध निर्माणी मुरादनगर' के लक्ष्य को प्राप्त करने के प्रयास में सकारात्मक प्रभाव लाया है। परियोजना का संक्षिप्त विवरण बताते हुए कहा कि सौर ऊर्जा परियोजना को पीएमओ द्वारा 'जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय सौर मिशन' के तहत 9 नवंबर 2005 को एम/एस बीईएल को नामांकन के आधार पर मंजूरी दी गयी थी। रक्षा प्रतिष्ठान द्वारा 300 मेगावाट बिजली परियोजनाओं की एमएनआरई के तहत संयंत्र को एम/एस बीईएल बंगलूरू के माध्यम से डेवलपर मोड के तहत स्थापित किया गया था। यह संयंत्र टीएलजी खंड के उत्तर में लगभग 10 एकड़ भूमि का एक क्षेत्र शामिल करता है। 


संयंत्र ने लगने के बाद से प्रतिदिन औसतन 8627 इकाइयां बिजली उत्पन्न की है, जिसके परिणामस्वरूप बिजली खर्च पर एक करोड़ रुपये की वार्षिक बचत हो रही है यानी कुल बिजली ख़र्च का 7% बचत इस सौर ऊर्जा संयंत्र के माध्यम से होगी ।


Comments