बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमित, हो रही है भारी लापरवाही डॉक्टरों ने भी जताई चिंता

बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमित, हो रही है भारी लापरवाही डॉक्टरों ने भी जताई चिंता


 


मुरादनगर। क्षेत्र में रोज कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। बढ़ती संख्या के कारण जहां लोगों में खौफ व्याप्त है वहीं सरकारी मशीनरी पीड़ितों का उपचार जांच में विफल नजर आ रही है। कई वार्डों में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद भी न तो उनमें सैनिटाइजेशन कराया गया है न ही पॉजिटिव मिले लोगों के परिवार के लोगों की जांच कराई गई है। इस बारे में नगर पालिका परिषद की अधिशासी अधिकारी निहारिका चौहान का कहना है कि जिला प्रशासन उप जिलाधिकारी के आदेशों के बाद ही सैनिटाइजेशन जैसे कार्य कराए जाते हैं। फिलहाल स्थानीय निवासी ही कालोनियों पर निगाह रख रहे हैं जिन कालोनियों को सील कर दिया जाना चाहिए था प्रशासन स्वास्थ्य विभाग ने वहां की सुध तक नहीं ली है। इस लापरवाही के कारण कोरोना संक्रमण क्षेत्र में और ज्यादा फैल सकता है। 



इसको लेकर डॉक्टरों की संस्था ने भी चिंता व्यक्त करते हुए डॉक्टरों की संस्था नीमा ने भी इसको लेकर चेतावनी दी है। चिकित्सकों ने बढ़ते कोरोना मामलों पर गंभीर चिंता जताते हुए आमजन को चेताया। डॉक्टरों का कहना है कि हम लोग कोविड-19 के सबसे खतरनाक दौर में पहुंच गए हैं, लेकिन सबसे ज्यादा आश्चर्य और दु:ख की बात यह है कि लोग इसको गंभीरता से नहीं ले रहे हैं ।


नेशनल इंटिग्रेटिड मैडिकल एसोसिएशन नीमा चिकित्सकों ने अनौपचारिक बातचीत में बताया कि जिस समय सरकार के द्वारा लॉकडाउन किया गया था उस समय इंफेक्शन का खतरा बहुत कम था क्योंकि केस बहुत कम थे। हम दुकान के 2 गज की दूरी पर गोलाई बनाकर उसमें ग्राहकों को खड़ा करते थे क्या इसलिए कि जिला प्रशासन का पहरा था। परंतु इस वक्त देखने में आ रहा है कि दुकानों पर लोग एक दूसरे के ऊपर भीड़ लगाए खड़े रहते हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करते हैं।


नीमा नगर अध्यक्ष डॉ. राजपाल तोमर ने कहा है कि मामले बहुत बढ़ गए हैं किसी भी इंफेक्शन का खतरा बहुत अधिक बढ़ गया है। हम कोरोना स्टेज तीन में है या प्रवेश करने वाले हैं और हम लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं कर रहे हैं। हम मास्क भी नहीं लगा रहे हैं। आरोग्य सेतु एवं आयुष सुरक्षा कवच एप का प्रयोग भी बहुत ही कम लोग कर रहे हैं। हम लोग अभी भी लापरवाह हैं। लोगों याद रखो आप की लापरवाही से कोरोना संक्रमण भयावह हो सकता है। 


डॉ फहीम सैफी नीमा नगर महासचिव ने कहा हम कोरोना से संबंधित बुनियादी सिद्धांतों का पालन भी नहीं कर रहे हैं। यह ऐसा है जब दुश्मन के आने का अंदेशा था तो हम सब बंदूक लिए तैनात थे और अब जब दुश्मन सर पर आ गए हैं तो हम बंदूक को कोने में रखकर लापरवाही से इधर उधर टहल रहे हैं। यह बहुत दु:खद स्थिति है और हमें यह भी याद रखना चाहिए कि फिलहाल बचाओ ही इलाज है। 


Comments