धरना प्रदर्शन करना फिलहाल उचित नहीं - विजय गौड़ 

धरना प्रदर्शन करना फिलहाल उचित नहीं - विजय गौड़ 



मुरादनगर। पुलिस अपना कार्य कर रही है। न्यायपालिका भी अपने फर्ज से विमुख नहीं है। ऐसे में धरने प्रदर्शन करने का कोई औचित्य नहीं है। बार एसोसिएशन गाजियाबाद को ऐसे किसी कार्यक्रम का समर्थन नहीं है। बार एसोसिएशन गाजियाबाद के सचिव विजय गौड़ ने एक प्रेस नोट जारी करते हुए कहा है कि एडवोकेट पर हुए हमले में मुकदमा लिखने के बावजूद गिरफ्तारी ने किए जाने पर मामले की जांच दूसरे थाने को सौंप दी गई है। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के पूरे प्रयास कर रही है। ऐसे में किसी धरने प्रदर्शन की कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने बताया है कि साथी अधिवक्ता पर दिल्ली पुलिस कर्मी साथियों द्वारा किए गए हमले में संबंधित थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस द्वारा विवेचना में लापरवाही बरतने पर अधिकारियों ने दूसरे थाने को जांच सौंपी है। 


पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के भरपूर प्रयास कर रही है लेकिन वह फरार हैं। आरोपी के विभाग को भी पुलिस ने न्यायालय के आदेशों की तामील करा दी है। न्यायालय ने आरोपियों की अग्रिम जमानत निरस्त कर दी है। बार एसोसिएशन इस कार्रवाई से इत्तेफाक रखती है। उन्होंने कहा है कि कुछ वरिष्ठ अधिवक्ता अपनी राजनीति के तहत धरना प्रदर्शन करने पर आमादा हैं। गौड़ ने कहा है कि धरना रत अधिवक्ताओं ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय प्रदर्शन घेराव की चेतावनी दी है। उसमें बार एसोसिएशन की सहमति नहीं है। ऐसे में किसी भी कार्यक्रम का बार एसोसिएशन समर्थन नहीं करेगी। 


 


Comments