पालिका पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर सभासद धरने पर बैठे

पालिका पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर सभासद धरने पर बैठे



मुरादनगर। मनोनीत सभासद डॉक्टर विजयपाल हितकारी नगर पालिका में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए धरने पर बैठ गए। उन्होंने बताया कि 3 दिन तक वह रोज कार्यालय समय तक पालिका परिसर में धरना देंगे। उसके बाद भूख हड़ताल शुरू कर देंगे। डॉ. विजय पाल अधिकारी ने कहा कि नगर पालिका में घोटाले भ्रष्टाचार हो रहे हैं। उन्होंने उच्चाधिकारियों विधायक सांसद को भी इससे अवगत कराया था लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। 9 जुलाई को प्रशासन को इस बारे में पत्र द्वारा सूचित कर दिया गया था। 


पालिका सभासद व नगर विकास परिषद के अध्यक्ष डॉ. विजय पाल हितकारी ने कहा कि नगरपालिका में गंभीर घोटाले हो रहे हैं। डॉ. विजय पाल हितकारी ने आरोप लगाए हैं कि अनेकों बार पत्र लिखने पर भी कोई कार्यवाही न होने के कारण दुखी धरने पर बैठे हैं। 19 जुलाई 2020 से भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे। उनके आरोप है कि पालिका परिषद में व्याप्त भ्रष्टाचार के विषय में अनेकों बार लिखा व आरटीआई के द्वारा भी जानकारी मांगी आज तक कोई उत्तर नहीं दिया। सरकारी भूमि एलएमसी का रखरखाव ठीक नहीं व अवैध कब्जे धारियों के खिलाफ भी कार्रवाई क्यों नहीं हुई। 


उन्होंने कहा है कि निर्माण कार्यों में नाली निर्माण में और अभियंता चंद्रपाल द्वारा बड़ा घोटाला पुरानी ईंट 10 - 1 का सीमेंट मसाला लग रहा है। आरसीसी रोड़ निर्माण में 10 - 1 का मसाला लग रहा है। 


जोहड़ तालाब नाली कुल की भूमि पर अवैध कब्जे धारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की है। इसमें नगरपालिका के उच्चाधिकारियों की मिलीभगत हो सकती है इसलिए कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके अलावा नाला निर्माण में शासनादेश संख्या 3788/ 9 - 5- 2 आर- 111 बजट 2010 दिनांक 9:. 10. 2012 का उल्लंघन कर निर्माण कार्य घटिया सामग्री द्वारा कराया जा रहा है। करीब 80 लाख का निर्माण हो रहा है। इसी प्रकार उजैड़ा नाले का निर्माण हुआ है करीब एक करोड़ दस लाख में। 


हितकारी ने कहा है कि गौशाला में गायों के भूसे व खल चूरी आदि के नाम पर बड़ा घोटाला जो गेहूं का भूसा 2019 जनवरी से अप्रैल 2010 तक 11:00 ₹100 कुंटल खरीदा गया जबकि भूसा ₹700 से ₹850 खुला बिका है और अप्रैल 20 से जून तक ₹500 से ₹600 कुंटल खुला बिक्री हो रहा था। उन्होंने पत्र में लिखा है कि सफाई विभाग में लेबर 30 रखे हैं परंतु कार्य पर 20 से 25 आते हैं और साप्ताहिक छुट्टी होने पर भी ठेकेदार को प्रतिमाह पूरा भुगतान क्यों होता है। 


सफाई विभाग में ट्रैक्टर 12 है और ड्राइवर 15 हैं और प्रतिदिन 5 ड्राईवर नहीं आते परंतु ठेकेदार को पूरा भुगतान क्यों किया जाता है। सभासद ही अपनी पालिका पर ऐसे गंभीर आरोप लगा रहें हैं। चेयरमैन सभासद दोनों ही सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी से हैं। 


उन्होंने कहा है कि कोई कार्यवाही ना किए जाने से साफ सिद्ध होता है कि भ्रष्टाचार है पालिका के 7.2020 तक अवैध कार्यों की जांच कर कार्यवाही करते हुए दोषी कर्मचारियों अधिकारियों को के खिलाफ कार्रवाई की जाए। आगे मैं पालिका परिषद के कार्यालय के ग्राउंड में भूख हड़ताल पर बैठ जाऊंगा जिसकी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी। इस बारे में नगर पालिका परिषद अध्यक्ष चौधरी विकास तेवतिया ने फोन पर बताया कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। सभासद के धरने की खबर से अधिशासी अधिकारी भी नगरपालिका कार्यालय नहीं पहुंची थी। सत्ताधारी पार्टी के सभासद द्वारा धरना पर बैठना कुछ तो इंगित कर ही रहा है। 


Comments