श्रीराम जन्मभूमि पूजन के अवसर पर वृक्षारोपण कर संस्कृति और प्रकृति के अटूट रिश्ते का दिया संदेश

श्रीराम जन्मभूमि पूजन के अवसर पर वृक्षारोपण कर संस्कृति और प्रकृति के अटूट रिश्ते का दिया संदेश



मुरादनगर। अयोध्या में आज राम मंदिर के भूमि पूजन का कार्य संपन्न हो गया। आज उत्सव का समय है। किसी ने इस उत्सव को दीप जलाकर मनाया तो किसी ने ढोल नगाड़े बजाकर और किसी ने मिठाइयां बांटकर। वही युवा जल संरक्षण समिति ने 10 फ़ीट लंबे बरगद के पेड़ को लगाते हुए इस दिन को कुछ अलग ही अंदाज में यादगार बनाने का प्रयास किया।


समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष दीपक गुप्ता ने कहा कि आज का दिन भारतीय संस्कृति के लिए बड़ा ही ऐतिहासिक और गौरवान्वित करने वाला दिन है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति और प्रकृति में एक अटूट रिश्ता रहा है। भारतीय संस्कृति पर्यावरण-संरक्षण में महत्त्वपूर्ण तथा सकारात्मक भूमिका रखती है। रामायण तथा अन्य धार्मिक ग्रन्थों, उपनिषदों में वन, नदी, जीव-जन्तु, पशु-पक्षियों की भूरि-भूरि प्रशंसा की गयी। यदि धार्मिक ग्रन्थो को सही से पढ़ा और सुना जाए तो ज्ञात होगा कि प्रकृति की सेवा भी ईश्वर की सेवा के समान ही हैं। अत: समिति ने इस शुभ अवसर पर भगवान श्रीः राम को भेंट स्वरूप एक बरगद के पेड़ का रोपण किया। जिसमें मुख्य भूमिका रामा अग्रवाल विमल प्रिंटर्स एवं धर्मपाल अरोड़ा, डी0एस0 बुक डिपो की रही।


 इस अवसर पर राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अभिषेक अरोरा, नगर उपाध्यक्ष मोहित शर्मा, नगर सह संयोजक नरेंद्र कुमार, मीडिया प्रभारी शिवम सचदेवा, जल योद्धा दुर्गेश कुमार आदि उपस्थित रहे।


Comments