बुआ भतीजे के संबंधो जैसी हो गई है सपा

बुआ भतीजे के संबंधो जैसी हो गई है सपा


 


मुकेश सोनी वरिष्ठ पत्रकार 


मुरादनगर। बुआ भतीजे के गठबंधन जैसी हालत हो गई है समाजवादी पार्टी की। अखिलेश यादव ने जितना बुआ से गठबंधन रखा था। मुरादनगर क्षेत्र भी समाजवादी पार्टी के लिए ऐसा हो गया है जैसे बुआ के दिल में था। सत्ता के समय जैसे हर नेता में सपाई होने की होड़ थी। अब मुरादनगर में एक दो लोगों को छोड़ बाकी सब ने साइकिल छोड़ अन्य वाहनों पर चढ़ गए हैं। मुरादनगर में समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य आशु मलिक का भी निवास है। सत्ता के समय वहां जलवे कुछ और रहते थे आजकल सन्नाटा है। एक बार पूरा क्षेत्र सपामय दिखलाई देता था। नगर अध्यक्ष, विधानसभा अध्यक्ष, वार्ड अध्यक्ष इन पदों पर आसीन होने के लिए लोग बड़ी-बड़ी जुगत लगाया करते थे। पदों पर भी रहे लेकिन आज वह कहीं पर्दे के पीछे जा चुके हैं। यहां पहले अपने आप को सपा नेता कहने वाले घरों के बाहर बड़ी-बड़ी तख्तियां अपने पद के साथ लगाया करते थे। शहर में दूर तक निगाह दौड़ाने पर वह तख्तियां भी गायब हो गई है। ऐसा नहीं है की समाजवादी पार्टी की जमीन मुरादनगर क्षेत्र में नहीं थी। समाजवादी पार्टी का अपना एक जनाधार था। वह समाप्त होता दिखलाई दे रहा है। नगर में सभा की हालत यह हो गई है कि उसके प्रत्याशियों को लोग डमी प्रत्याशी बताने लगे हैं। 


क्षेत्र का समाजवादी पार्टी मुलायम सिंह यादव कई बार स्वयं मुरादनगर आ चुके हैं। मुख्यमंत्री काल में अखिलेश यादव व उनका लगभग पूरा परिवार मुरादनगर में आ चुका है। सपा का अपना एक जलवा क्षेत्र में रहा है। विधानसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी के परंपरागत वोट माने जाने वाले यादव भी कहीं गुमसुम से हैं। मुस्लिमों में समाजवादी पार्टी यहां खास पकड़ नहीं बना पाई। स्थानीय निकाय चुनावों में पार्टी के प्रत्याशी को तीसरे नंबर पर रहना पड़ा था। आने वाले प्रस्तावित कार्यक्रम में हाईकमान द्वारा सभी को विरोध प्रदर्शन के लिए निर्देशित किया गया है। देखना यह है कि पार्टी द्वारा निर्देशित कार्यक्रम में मुरादनगर की भागीदारी कितनी होगी। वीर अर्जुन प्रतिनिधि मुकेश सोनी ने कई नेताओं से संपर्क कर प्रस्तावित कार्यक्रम की जानकारी करने का प्रयास किया लेकिन किसी के पास कोई ठोस तैयारी नहीं दिखलाई दी। 


Comments