सर्राफा बाजार त्योहारों ने किया निराश शादियों से उम्मीद

सर्राफा बाजार त्योहारों ने किया निराश शादियों से उम्मीद




मुरादनगर। कोरोना महामारी के कारण ज्वेलरी सोने चांदी के जेवर का व्यापार करने वाले ज्वेलर्स भी बहुत बुरी तरह प्रभावित हुए है। सर्राफा व्यापारियों को उम्मीद थी कि दशहरे के बाद दीपावली तक पड़ने वाले त्योहारों में व्यापार का पहिया दौड़ेगा लेकिन त्योहारों ने ज्वेलरी व्यापारियों को निराश ही किया है। इस बारे में सर्राफा व्यापार मंडल के अध्यक्ष लोकेश सोनी ने बताया कि प्रतिवर्ष करवा चौथ अहोई अष्टमी धनतेरस दीपावली पर लोग चांदी व स्वर्ण आभूषण खरीदते हैं लेकिन जैसे व्यापार की उम्मीद की जा रही थी उसमें निराशा ही हाथ लगी। उन्होंने बताया कि नगर में लगभग 150 ज्वेलर्स हैं। सभी के कार्यों की हालत त्योहारों पर लगभग समान रही। ग्राहक पहुंचे लेकिन बहुत कम संख्या में। उन्होंने बताया कि 25 नवंबर में देव उठनी एकादशी से विवाह प्रारंभ होंगे। अब व्यापारी आने वाले शादी के सीजन से उम्मीद कर रहे हैं कि शायद ज्वेलरी का कार्य कुछ सुधार पकड़े। अभी लोगों को आशंका है कि यदि दोबारा लॉकडाउन की स्थिति आ गई तो सर्राफा व्यापारियों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो जाएगा क्योंकि ऐसे माहौल में व्यक्ति ज्वेलरी आदि में पैसा न खर्च कर आकस्मिक स्थिति के लिए रोक लेता है।
Comments