गाय खा रही है कचरा गौ भक्त लापता

गाय खा रही है कचरा गौ भक्त लापता


कचरा खाती गाय की तस्वीर


मुरादनगर। सरकार गौ वंश संरक्षण के लिए अनेकों योजनाएं चला रही है, गौशाला में चलती बतलाई जा रही हैं। कथित गौ भक्त भी गायों के लिए विभिन्न कार्य करने के दावे करते हैं। समय-समय पर गायों के साथ फोटो खिंचवा कर अखबारों में भी छपवाते हैं लेकिन मुरादनगर क्षेत्र में उन योजनाओं दावों का कोई लाभ गौ वंश को मिलता नहीं दिखलाई दे रहा। चारे के अभाव ने पेट की आग शांत करने के लिए पॉलिथीन अन्य ऐसी सामग्री जो उनके लिए घातक हैं, उसे खा रहे हैं। 
कड़कड़ाती सर्दी में उनके लिए कोई गौशाला नहीं मिल रही। विडंबना है कि गाय को मां कहने वाले पास के मंदिर में प्रसाद चढ़ाकर चले जाते हैं और मंदिर के बाहर गाय पॉलिथीन के ढेर पर बैठ उसे ही खा रही है। उसी से सर्दी से बचने का असफल प्रयास भी कर रही है। नगरीय क्षेत्र में ऐसे स्थान बहुत कम है जहां वह चारा खा सकें। सड़क पर लावारिस हालत में घूमने वाली गायों को कालोनियों में भी खाने को इतना नहीं मिल पाता जिससे उनका पेट भर सके। नगर में अनेक स्थानों पर रात दिन किसी भी समय ऐसे दृश्य देखने को मिल जाते हैं जब गाय पॉलिथीन या अन्य कबाड़ खा कर पेट भर रही होती है। 
सरकार ने सर्दियों में गायों के लिए गौशालाओं में अन्य इंतजामों के साथ सर्दी से बचाव के लिए गुड़ देने के भी निर्देश दिए हैं लेकिन उनका पालन कहां हो रहा है। उसको यहां देखा जा सकता है। गुड़ तो दूर की बात है गौशालाओं तक उन्हें पहुंचा, चारा पानी देने वाला भी कोई नहीं देता। बताया जाता है कि क्षेत्र में कुछ गौशाला चल रही है लेकिन फिर भी वह लावारिस घूम रही है और कचरे में अपना चारा ढूंढ रही है। नगर पालिका परिषद बताती है कि उसने भी कोई गौशाला चलवाई हुई है। इस बारे में अधिशासी अधिकारी से संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन संपर्क नहीं हो पाया।
Comments