सपा जिला पंचायत सदस्य के पति का भट्टा कराया बंद

सपा जिला पंचायत सदस्य के पति का भट्टा कराया बंद




मुरादनगर। जिसका डर था वह हो गया एक दिन पहले ही विपक्ष के नेताओं ने जिलाधिकारी से मिलकर शिकायत की थी कि कुछ प्रशासनिक अधिकारी सत्ताधारी पार्टी के जिला पंचायत अध्यक्ष पद के प्रत्याशी को वोट देने के लिए दबाव बना धमकियां दे रहे हैं। उसके कुछ घंटे बाद ही प्रशासनिक अधिकारियों ने पुलिस अग्निशमन विभाग के साथ थाना क्षेत्र के निठारी के निकट सुराना मुरादनगर मार्ग पर स्थित समाजवादी पार्टी की जिला पंचायत सदस्य मीनू यादव के पति विकास यादव के ईंट भट्टे को जबरन बंद करा दिया। भट्टे की आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया। तहसील से पहुंचे अधिकारियों का कहना था कि भट्टा एनजीटी के नियम विरुद्ध चलाया जा रहा था इसलिए कार्यवाही की गई है। वहीं जिला पंचायत सदस्य मीनू यादव के पति पूर्व जिला पंचायत सदस्य विकास यादव ने आरोप लगाए हैं कि प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा उन्हें भाजपा के जिला पंचायत अध्यक्ष को वोट देने के लिए धमकाया जा रहा था। उन्हें कहा गया था कि यदि सत्ताधारी पार्टी के प्रत्याशी को वोट नहीं दिया तो तुम्हारे सभी काम धंधे चौपट कर जितनी भी हो सकती हैं तुम्हारे खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस विषय में विकास यादव ने एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल की है उन्होंने आरोप लगाया है कि उनके भट्टे में पानी भरकर बंद करा दिया गया जिसके कारण 1000000 रुपए से अधिक का नुकसान हुआ है। उन्होंने चुनाव अधिकारियों से मांग की है कि सत्ता के इशारे पर लोगों का उत्पीड़न करने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए। अन्यथा लोगों का लोकतंत्र से भरोसा ही उठ जाएगा वोट देना व्यक्ति का अपना अधिकार है लेकिन सरकारी मशीनरी धमका कर लोगों का वोट लेना चाहती है। उन्होंने सरकार के इस कदम को लोकतंत्र की हत्या करार देते हुए कार्यवाही करने वाले अधिकारियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की मांग की है। शुक्रवार को राष्ट्रीय लोक दल समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने जिलाधिकारी गाजियाबाद से मुलाकात कर इस बारे में शिकायत करते हुए बताया था कि तहसीलदार स्तर के अधिकारी विपक्ष के समर्थन से जीते जिला पंचायत क्षेत्र पंचायत सदस्यों को सत्ता पक्ष में वोट देने के लिए धमका रहे हैं। शनिवार सुबह ही प्रशासनिक अधिकारी पुलिस अग्निशमन विभाग की टीम लेकर भट्टा बंद कराने पहुंच गए इस मुद्दे पर विपक्षी दल सरकार को घेरने की रणनीति बनाने में जुट गए हैं। शनिवार को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए मात्र भाजपा प्रत्याशी ममता त्यागी ने ही नामांकन किया था उनका निर्विरोध निर्वाचन होना तय है नतीजे 3 जुलाई को घोषित होंगे लेकिन उससे पूर्व ही विपक्ष को बड़ा मुद्दा मिल गया।


Comments