सरकारी भूमि पर कब्जा, उप जिलाधिकारी पर गंभीर आरोप, कहा संज्ञान में नहीं

सरकारी भूमि पर कब्जा, उप जिलाधिकारी पर गंभीर आरोप , कहा संज्ञान में नहीं



मुरादनगर। सरकारी भूमि पर कब्जा कर फैक्ट्रियां बनाई बाकी जमीन पर झुग्गियां डलवा संदिग्ध बांग्ला भाषी परिवारों को वहां बसा दिया है। भूमि की कई बार नापतोल हो चुकी है जांच में भूमि सरकारी पाई गई है। उसके पश्चात भी उप जिलाधिकारी मोदीनगर भू माफियाओं के साथ सांठगांठ कर उन्हें लाभ तथा सरकार को नुकसान पहुंचा रहे हैं। इस विषय में नगर पालिका परिषद के सभासद महंत डॉ विजय पाल  हितकारी ने मंडलायुक्त को पत्र भेजकर त्वरित कार्यवाही की मांग की है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि
सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा पाए जाने के बावजूद भी उपजिलाधिकारी नहीं कर रहे कार्रवाई।
भू माफियाओं द्वारा सरना मुरादनगर की खसरा  568, 575 खसरा न 572 सरकारी भूमि दबंग  भूमाफिया जो कि अतीक अहमद को अपना रिश्तेदार बताकर लोगों को धमकाते हैं। सभी भाइयों के पास लाइसेंस हथियार हैं उनकी भी जांच कराई जाए।   सरकारी जमीन पर फैक्ट्रियां लगाई हुई है तथा बाकी जमीन पर संदिग्ध बांग्ला भाषी परिवारों को किराए पर दी हुई है। कई बार भू नाप चिन्हकरण हो चुके हैं सभी में यह भूमि सरकारी पाई गई है। अभी तक इस भूमि को माफियाओं से अपने कब्जे में ले लेना चाहिए था लेकिन उपजिलाधिकारी मोदीनगर भू माफियाओं को संरक्षण देकर सरकार का नुकसान पहुंचा रहे हैं। 
भू माफियाओं के खिलाफ कारवाही कर सरकारी जमीन उनके कब्जे से ली जाए तथा उप जिलाधिकारी मोदी नगर की भी इस मामले में जांच कराई जाए। इस बारे में महंत डॉ विजय पाल हितकारी ने बताया कि पत्र के साथ ही पूर्व में हुई कार्रवाई से अवगत कराने के लिए उनके प्रतिलिपि भी भेजी गई हैं। इस बारे में उप जिलाधिकारी आदित्य प्रजापति ने बताया कि ऐसा कोई मामला उनके संज्ञान में नहीं है यदि आएगा तो जांच कराकर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Comments

Popular posts from this blog

अमेज़ॉन में हुआ काइट के 13 छात्रों का प्लेसमेंट, प्रत्येक छात्र को मिला 44.14 लाख का पैकेज

चेयरमैन सईउल्लाह खान ने कहा था न खाऊंगा न खाने दूंगा

कानूनी जागरूकता शिविर में छात्र छात्राओं ने दी कानून की जानकारी ग्रामीणों को जानकारी