कांवड़ यात्रा पर संशय बरकरार अनुमति दी जाए - विनोद मिश्रा

कांवड़ यात्रा पर संशय बरकरार अनुमति दी जाए - विनोद मिश्रा



मुरादनगर। प्रस्तावित कावड़ यात्रा को लेकर लोग असमंजस की स्थिति में है। उत्तर प्रदेश सरकार सकुशल भव्य कावड़ यात्रा संपन्न कराने का आश्वासन धर्म प्रेमियों को दे चुकी है। लेकिन उत्तराखंड द्वारा यात्रा की अनुमति न मिलने से अभी उन लोगों का उत्साह तोड़ा हुआ है। पिछली कावड़ यात्रा कोरोना के कारण ही स्थगित की गई थी, जिससे कांवड़ यात्रा की तैयारी कर रहे लोगों को निराशा हुई थी। लाखों की संख्या में शिव भक्त हरिद्वार ऋषिकेश गंगोत्री आदि से पवित्र गंगाजल लाकर अपने क्षेत्र के शिवालयों पर जलाभिषेक किया जाता है। क्षेत्र से बड़ी संख्या में युवा तो जाते ही है कुछ वरिष्ठ नागरिक भी पुण्य लाभ उठा लेते हैं। इस बार भी लोगों को उम्मीद नहीं थी कि कांवड़ यात्रा की अनुमति मिल जाएगी लेकिन अभी खुशी आधी अधूरी ही है, जब तक उत्तराखंड अनुमति न दे। हालांकि उत्तर प्रदेश सरकार उत्तराखंड सरकार से भी वार्ता कर रही है यात्रा की अनुमति मिलते ही चार धाम की ओर चलेंगे। इस बारे में पंडित विनोद मिश्रा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिल भारतीय परशुराम सेवादल जो कि कांवड़ यात्रा के दौरान भोजन दवाओ आदि का कैंप लगाते हैं। बताया कि गत वर्ष सारी तैयारियां की गई थी लेकिन अनुमति न मिलने से यात्रा नहीं हो सकी हो सकता है कि इस बार लोग देवा दी देव महादेव का जलाभिषेक कर सकेंगे। उन्होंने उत्तराखंड सरकार से भी मांग की है कि कांवड़ यात्रा की अनुमति प्रदान करे, उसके लिए कुछ दिशानिर्देश जारी किए जा सकते हैं जिससे कोरोना का खतरा भी न हो।




Comments