नगर पालिका परिषद की लापरवाही से मासूम की गई जान

नगर पालिका परिषद की लापरवाही से मासूम की गई जान




मुरादनगर। नगर पालिका परिषद की लापरवाही हटधर्मी भेदभाव के कारण एक और मासूम की जान नगर पालिका परिषद के नाले में  गिरने से चली गई। अधिकारियों ने चंद रुपए मासूम की जान की कीमत लगाते हुए सहायता राशि दिलाने का आश्वासन दिया है। इस हादसे के कारण लोगों में भारी आक्रोश व्याप्त है। मासूम की मौत के बाद गुस्साए लोगों ने रोड पर शव रख मुआवजे तथा दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। तहसील से पहुंचे कर्मचारियों पुलिस ने किसी तरह से आक्रोशित लोगों को शांत कराया। 
नगर की प्रीत विहार कॉलोनी निवासी मोहम्मद नईम ऑटो चलाकर परिवार का लालन पालन करता है। वह पत्नी कहकशा, पुत्र अरहम, 5 वर्ष पुत्री इनाया, 3 वर्ष के साथ यहां रहता है। उसका पुत्र अरहम बच्चों के साथ खेल रहा था। अचानक ही वह वहां से गुजर रहे करीब 15 फीट गहरे नाले में गिर गया। उसके साथ खेल रहे और बच्चों ने इसकी सूचना उसके परिजनों को दी। बच्चे के नाले में गिरने की खबर लगते ही बड़ी संख्या में लोग वहां एकत्र हो गए और नाले में डूब गए। मासूम की तलाश शुरू की लेकिन नाले में कबाड़ ज्यादा भरा होने के कारण बच्चा कूड़े के नीचे दब गया। लोगों ने मुश्किलों से उसे नाले से निकाल अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इकलौते बेटे की मौत के कारण माता पिता का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। मृतक के पिता व अन्य लोगों ने बताया कि वह कई बार नाले की सफाई और उसे कवर करने की मांग सभासद चेयरमैन से कर चुके हैं। लेकिन कार्य कराने के बजाए उन्हें कहा गया कि तुम्हारा चेयरमैन वहाब चौधरी है। उसी उन्हीं से काम कराओ डेढ़ किलोमीटर लंबे इस नाले में दो दर्जन से अधिक बच्चे अकाल काल के गाल में समा चुके हैं। कई बार मांग करने के बावजूद भी इस और पालिका ने ध्यान नहीं दिया और मासूम की जान चली गई। मौके पर पहुंचे राजनीतिक दलों के लोगों तथा स्थानीय निवासियों ने इस हादसे के लिए जिम्मेदारी तय करते हुए दोषी को सजा तथा आर्थिक सहायता की मांग की। 
तहसील कर्मियों ने परिवार को 4 लाख रुपए सहायता का आश्वासन दिया लेकिन फिर भी लोग शांत नहीं हुए। दोषियों को सजा तथा नाले को तुरंत कवर करने सफाई कराने की मांग पर अडे रहे। मौके पर पहुंचे अल्पसंख्यक कांग्रेस के प्रदेश महासचिव महताब पठान ने कहा कि नगर पालिका की लापरवाही भेदभाव के कारण लोगों की जाने जा रही हैं। अधिकारी आश्वासन देकर लोगों को चले जाते हैं लेकिन वह पूरे नहीं होते प्रशासन द्वारा सहायता राशि मिलने में भी उन्होंने संशय जताया। सपा नेता फारुख चौधरी ने भी पीड़ितों को आर्थिक सहायता वह दोषियों को दंड देने की मांग की है।

Comments