कड़ाके की ठंड में भूख हड़ताल जारी

कड़ाके की ठंड में भूख हड़ताल जारी


 मुरादनगर। 1 महीने से अधिक समय हो गया है लेकिन अपनी मांगों को लेकर भूख हड़ताल धरने पर बैठी महिलाओं की प्रशासन ने कोई खैर खबर नहीं ली। और जो अधिकारी धरना स्थल पर पहुंचे उन्होंने भी लौटकर उनकी ओर नहीं देखा। जिसके कारण महिलाओं में सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ रहा है। कड़ाके की सर्दी पड रही है। जिससे उनकी मुसीबतें बढ़ गई हैं। लेकिन ऐसे में भी रात दिन बच्चों सहित महिलाएं धरने पर बैठी हुई हैं। पुष्प लता, रजनी, ममता, ये मंजू, पिंकी, ने बताया कि 3 जनवरी 2021 को उखलारसी श्मशान घाट में नगर पालिका द्वारा बनाया हुआ लेंटर गिर जाने के कारण 25 लोगों की मृत्यु हो गई थी। नगर पालिका द्वारा बनाई गई छत गिरने से इतने लोगों की जाने चली गई उस समय आक्रोशित लोगों ने कुछ मृतकों के शव हाईवे पर रखकर जाम लगा दिया था। पुलिस प्रशासन के उच्चाधिकारियों ने लोगों को शांत करने के लिए 50 लाख रुपए, मृतकों के परिवार से एक व्यक्ति को नौकरी, घायलों को चिकित्सा, बच्चों की शिक्षा, दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया था। लेकिन लंबा समय बीत जाने के बावजूद पीड़ितों को 12 लाख रुपए की आर्थिक मदद के अलावा घोषित आर्थिक सहायता पूरी की गई। और न किसी को नौकरी मिली। यहां तक की घायलों का उपचार आर्थिक अभाव के कारण नहीं हो पा रहा है। जबकि घायलों को भी सरकार की तरफ से इलाज कराने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन उनके इलाज में कोई सहायता प्रशासन ने नहीं कराई और न ही इस दुर्लभ तम भ्रष्टाचार के लिए कौन कौन दोषी हैं यह भी उन्हें अभी तक नहीं बताया जा रहा है। महिलाओं ने कहा है कि हालात गर्मी सर्दी बरसात जैसे भी होंगे उनका सामना करते हुए हम न्याय मिलने तक अपना विरोध प्रदर्शन करते रहेंगे। महिलाओं का कहना है कि वह शासन प्रशासन के उच्चाधिकारियों जनप्रतिनिधियों से मिली लेकिन किसी ने भी कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया। सभी स्थानों से निराश होने के बाद 29 नवंबर से वह नगर पालिका परिषद कार्यालय परिसर में धरना भूख हड़ताल पर बैठी हैं। महिलाओं ने बताया कि यहां आए प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा से भी मिलकर उन्हें ज्ञापन दिया था लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।
Comments