बिजली लाइनमैन की मौत का कौन जिम्मेदार ?

बिजली लाइनमैन की मौत का कौन जिम्मेदार ?


मुरादनगर। बिजली लाइन पर काम कर रहे संविदा कर्मी की मृत्यु के बाद गुस्साए लोगों ने ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे जाम कर घंटों तक शव को खंबे से नहीं उतारने दिया। पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के अनुरोध पर भी लोग शांत नहीं हुए। विद्युत विभाग के अधिकारियों को मौके पर बुलाया गया। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कार्यवाही तथा उचित मुआवजे के आश्वासन देकर आक्रोशित लोगों को शांत किया। तब मृतक को बिजली की लाइनों से नीचे उतारा गया। गांव खैराजपुर निवासी  संविदा कर्मी सलीम 40 वर्ष हुसैनपुर स्थित विद्युत स्टेशन पर तैनात था। लाइन फाल्ट की सूचना पर वह मनौली के पास लाइन पर काम कर रहा था। लाइन में अचानक करंट आने से वह झुलस कर लाइनों पर ही लटक गया। मौके पर ही उसकी मृत्यु हो गई। सूचना मिलते ही लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। 
आए दिन विद्युत कर्मियों की कार्य के दौरान करंट से हो रही मौतों को लेकर लोगों ने भी अब यह कहना शुरू कर दिया है कि विभाग के लिए कर्मचारियों की मौत चिंता का विषय नहीं है। हादसे होते हैं हंगामे होते हैं अधिकारी आश्वासन देते हैं। लेकिन मृतक के अंतिम संस्कार के बाद उसके बारे में कोई पता जांच सहायता नहीं की जाती। क्षेत्र में आधा दर्जन के करीब विद्युत कर्मी बिजली का निवाला बन चुके हैं। लेकिन ऐसी दुर्घटनाओं के लिए किसकी जिम्मेदारी है इसके बारे में किसी के पास जवाब नहीं होता। लोगों का कहना है कि विद्युत स्टेशन पर लाइन में काम करने की सूचना देकर विद्युत आपूर्ति बंद करा कर ही कर्मचारी जाते हैं। ऐसे में लाइनों में करंट छोड़ने वालों की पहचान कर उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जानी चाहिए। जिससे भविष्य में ऐसी दुर्घटनाओं पर रोक लग सके। इस बारे में क्षेत्रीय विद्युत अधिकारी से संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन उनका फोन स्विच ऑफ आता रहा।

Comments