आंदोलनकारी महिलाओं के मुकदमें होंगे निरस्त, समस्याओं का नहीं हुआ समाधान

आंदोलनकारी महिलाओं के मुकदमें होंगे निरस्त, समस्याओं का नहीं हुआ समाधान




मुरादनगर। आंदोलनकारी पीड़िता महिलाओं के खिलाफ दर्ज कराए गए मुकदमों   को शासन ने निरस्त करने की कार्यवाही शुरू कर दी है । उत्तर प्रदेश के जिला गाजियाबाद के मुरादनगर में  स्थित उखलारसी श्मशान घाट जिसमें 3, जनवरी 2021 को नगर पालिका परिषद द्वारा नवनिर्मित प्रार्थना स्थल की छत गिर जाने के कारण 25 लोगों की मृत्यु तथा इससे अधिक घायल हुए थे। हादसे के समय दोषियों को जल्द सजा परिजनों को कई प्रकार के सुविधाएं उपलब्ध कराने के उच्चाधिकारियों जनप्रतिनिधियों ने आश्वासन दिए थे। लेकिन काफी दिन बीत जाने के बावजूद न्याय दोषियों को सजा, तथा घोषित सहायतें नहीं मिली थी। 
उन्हीं मांगों की पूर्ति के लिए महिलाओं ने यहां नगर पालिका परिषद कार्यालय में 2 महीने तक धरना प्रदर्शन भूख हड़ताल की लेकिन उनकी नहीं सुनी गई। चुनाव के दौरान के एन इंटर कॉलेज में आए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात का प्रयास किया। उसी को लेकर अधिशासी अधिकारी की ओर से 5 नामजद व 25 अन्य महिलाओं के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस बारे में संबंधित महिलाओं ने दैनिक वीर अर्जुन प्रतिनिधि मुकेश सोनी को इस बारे में बताया कि वह वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से भी मिली थीं पुलिस वाले आए थे। सभी के बयान ले गए हैं। उन्होंने ही जानकारी दी है कि दर्ज मुकदमे की वापसी की कार्रवाई चल रही है।

Comments

Popular posts from this blog

अमेज़ॉन में हुआ काइट के 13 छात्रों का प्लेसमेंट, प्रत्येक छात्र को मिला 44.14 लाख का पैकेज

चेयरमैन सईउल्लाह खान ने कहा था न खाऊंगा न खाने दूंगा

कानूनी जागरूकता शिविर में छात्र छात्राओं ने दी कानून की जानकारी ग्रामीणों को जानकारी